Wednesday, May 29, 2024
HomeTECHWorld’s 5 Largest Stock Exchanges –टॉप 10 स्टॉक मार्केट मे भारत 5वे...

World’s 5 Largest Stock Exchanges –टॉप 10 स्टॉक मार्केट मे भारत 5वे स्थान पर

Stock Exchanges: फ्रांस को पछाड़कर भारत दुनिया के शीर्ष 5 शेयर बाजारों में पहुंच गया है। जनवरी में, फ्रांसीसी शेयर बाजार ने भारत को छठे स्थान पर धकेल दिया था, लेकिन भारत ने फिर से अपना 5वां स्थान हासिल कर लिया है। भारत का शेयर बाज़ार मार्च से लगातार बढ़ रहा है और बाहरी निवेशकों को आकर्षित कर रहा है। भारत की व्यापक आर्थिक स्थिति में Overview सुधार हो रहा है।

भारत का शेयर बाज़ार 4.1 ट्रिलियन डॉलर का हो गया है, जिससे यह दुनिया के शीर्ष 10 शेयर बाज़ारों में 5वें स्थान पर है। इस साल की शुरुआत से अब तक भारत के शेयर बाजार में 330 अरब डॉलर की बढ़ोतरी हुई है।

World’s 5 Largest Stock Exchanges

Rank Country Market Capitalization (Dollar)
1 अमेरिका 48 ट्रिलियन डॉलर
2 चीन 9.7 ट्रिलियन डॉलर
3 जापान 6 ट्रिलियन डॉलर
4 हांगकांग 4.7 ट्रिलियन डॉलर
5 भारत 4.1 ट्रिलियन डॉलर
6 फ्रांस 3.24 ट्रिलियन डॉलर

मशहूर ब्रोकरेज कंपनी जेफरीज ने कहा है कि भारत का बाजार तेजी से बढ़ रहा है। बीएसई सेंसेक्स के 1,00,000 तक पहुंचने में बस कुछ ही समय की बात है। जेफ़रीज़ के लक्ष्य ने भारत और विदेश के निवेशकों को निवेश करने का अवसर प्रदान किया है।

Stock Exchanges

Stock Exchanges: All Time High पर निफ्टी और सेंसेक्स

भारत का शेयर बाजार तेजी से बढ़ रहा है. पिछले 2 दिनों में सेंस और निफ्टी दोनों 0.6% ऊपर गए। निफ्टी अब 20,826.95 अंक पर है और सेंसेक्स में भी अच्छी बढ़त देखी गई और यह 69,336.44 अंक पर पहुंच गया।

Stock Exchanges:भारत का स्टॉक मार्केट तेज़ी से बढ़ने के टॉप 4 कारण

  • BJP की सरकार: हाल के राज्य चुनावों में, भाजपा ने 5 में से 3 राज्यों: छत्तीसगढ़, राजस्थान और मध्य प्रदेश में जीत हासिल की। जनता का विश्वास भाजपा सरकार के प्रति बढ़ा है।
  • बाहर देश का पैसा: FII (Foreign Institutional Investors)विदेशी निवेशक भारतीय बाजार में खूब पैसा लगा रहे हैं। इससे भारतीय शेयर बाजार ऊपर जा रहा है।
  • US Bond Yeild Down:अमेरिकी बाजार में बॉन्ड पर ब्याज बढ़ गया है. अधिक ब्याज पाने के लिए लोग अपना पैसा दूसरे देशों में इन्वेस्ट कर रहे हैं।
  • Stable Interest Rates: पिछले कुछ समय से global बाजार और भारत दोनों में ब्याज दरें स्थिर हैं। इससे बाजार की गतिविधियों में उतार-चढ़ाव कम हुआ है।

ये भी पढे:

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments