⦁ यह समस्या बालों के अंतिम सिरे  पर देखने को मिलती है। इसमें एक बाल के दो सिरे  बन जाते हैं, जिसे ‘ट्राइकोप्टिलोसिस’ के नाम से भी जाना जाता है। 

⦁ दही को एक चम्मच शहद, जैतून का तेल और अंडे की जर्दी के साथ मिलाकर एक पौष्टिक हेयर मास्क बनाएं। पूरी तरह से कवर होने तक मास्क को अपने स्कैल्प और बालों पर धीरे-धीरे मालिश करें। 20 मिनट बाद अपने बालों को अच्छी तरह साफ कर लें।

⦁ पपीते को दही के साथ मिलाकर बालों में हल्के हाथों से मसाज करने से दोमुंहे बालों की समस्या दूर हो जाती है। इस पौष्टिक मिश्रण को अपने सिर पर लगभग 30-40 मिनट के लिए छोड़ दें।.

आप अपने बालों को धोने से लगभग 2 घंटे पहले नारियल का तेल लगाकर दोमुंहे बालों का ठीक से इलाज कर सकते हैं।

पर्याप्त मात्रा में एलोवेरा जेल से स्कैल्प की मालिश करें और हल्के शैम्पू से धोने से पहले इसे 30-45 मिनट के लिए छोड़ दें।

बालों को अत्यधिक धोने और रगड़ने से बचना चाहिए क्योंकि इससे बाल क्षतिग्रस्त हो सकते हैं और दोमुंहे हो सकते हैं। बालों को सप्ताह में केवल 2-3 बार ही धोने की सलाह दी जाती है। 

हर 3 महीने में बाल ट्रिम कराने की सलाह दी जाती है।. 

अंडे की जर्दी न केवल बालों को प्रोटीन पहुंचाती है, बल्कि यह सूखे बालों के लिए मॉइस्चराइजर के रूप में काम करती है, जो दोमुंहे बालों से प्रभावी ढंग से निपटती है।