आंतरिक बवासीर

इस प्रकार के बवासीर गुदा गुहा (एनल कैविटी) के अंदर होते हैं, लेकिन अक्सर आपके गुदा से बाहर लटक सकते हैं

फर्स्ट डिग्री

इस स्थिति में, बवासीर गुदा से बाहर नहीं निकलता है लेकिन उसमें से खून आ सकता है।

सेकेंड डिग्री   

यह मल त्याग के दौरान बाहर आता है लेकिन बाद में अंदर चला जाता है।

थर्ड डिग्री

यह कभी-कभी बाहर आता है लेकिन अगर आप इसे धीरे से धक्का देंगे तो यह अंदर चला जाएगा।

फोर्थ डिग्र

वे आंशिक रूप से आपकी गुदा के बाहर होते हैं और उन्हें अंदर नहीं धकेला जा सकता है। अगर गांठ के अंदर खून का थक्का जम जाता है तो वे सूज सकते हैं और उनमें बहुत दर्द हो सकता है।

बाहरी बवासीर

इस प्रकार का बवासीर गुदा नहर (एनल कैनाल) के नीचे गुदा के नज़दीक होता है। अगर गांठ के अंदर खून के थक्के बने हों तो उनमें दर्द हो सकता है।

प्रोलेप्सड बवासीर

आंतरिक और बाहरी बवासीर दोनों ही आगे की ओर बढ़ सकते हैं, जिसका मतलब यह हुआ कि वे गुदा के बाहर फैलते हैं और उभार बनाते हैं। इन बवासीरों से खून निकल सकता है या दर्द हो सकता है।

डॉक्टर से कब मिलना चाहिए?

घर पर बवासीर का प्रबंधन करने के 2-4 दिनों के बाद भी आपमें लक्षण मौजूद हैं आपके मलाशय से खून रिस रहा है आपको बहुत दर्द हो रहा है